तार कंपनी लेबर यूनियन के मामले में राकेश्वर पांडे फैसला लेंगे

2

जमशेदपुर : तार कंपनी लेबर यूनियन में पहले ग्रेड रिवीजन समझौता होगा या चुनाव इस पर मंगलवार सुबह यूनियन कार्यालय में कमेटी मीटिंग हुई। सभी पक्षों को सुनने के बाद अध्यक्ष राकेश्वर पांडेय इस पर निर्णय लेंगे। वायर प्रोडक्ट लेबर यूनियन के तीन वर्ष का कार्यकाल सात अक्टूबर 2021 को समाप्त हो चुका है। यूनियन नेतृत्व का तर्क है कि कोविड 19 के कारण आधे से अधिक कार्यकाल प्रभावित रहा।

कंपनी प्रबंधन के साथ बातचीत करने का मौका नहीं मिला। हालांकि कंपनी में लंबित वेतन समझौता पर कमेटी बन चुकी है और कंपनी प्रबंधन के साथ चार दौर की वार्ता भी हो चुकी है। ऐसे में कर्मचारियों के लंबित ग्रेड रिवीजन पर पहले समझौता हो। क्योंकि संविधान के अनुसार यूनियन नेतृत्व हाउस की मंजूरी के बाद यूनियन के चुनाव को विशेष परिस्थिति में छह माह तक (तीन-तीन माह करके दो बार) बढ़ा सकती है। इसलिए यूनियन में पहले ग्रेड रिवीजन हो क्योंकि यह हर एक कर्मचारी से जुड़ा मामला है।

आशीष गुट पहले चुनाव कराने की कर रहे हैं मांग

यूनियन के पूर्व महामंत्री आशीष अधिकारी गुट पहले चुनाव कराने की मांग कर रहे हैं। उनका तर्क है कि यूनियन का चुनाव पांच दिन में पूरा हो जाएगा। इसके बाद नई कार्यकारिणी आराम से ग्रेड रिवीजन पर वार्ता करे। इसमें कोई परेशानी नहीं है। यूनियन का कार्यकाल खत्म हो चुका है इसलिए चुनाव कराया जाए। क्योंकि चुनाव हर एक कर्मचारी का मौलिक अधिकार है।

अध्यक्ष लेंगे चुनाव पर निर्णय

यूनियन में चुनाव पहले होगा या ग्रेड रिवीजन समझौता। इस पर यूनियन नेतृत्व अंतिम निर्णय लेंगे। मंगलवार को यूनियन कार्यालय में हुई कमेटी मीटिंग के बाद श्रद्धांजलि सभा, नवंबर 2020 में हुए कमेटी मीटिंग के मिनट्स की सम्पुष्टि सहित चुनाव व ग्रेड रिवीजन पर सभी पक्षों को सुना गया। अध्यक्ष राकेश्वर पांडेय को मामले में निर्णय लेने के लिए अधिकृत किया गया है। वे ही इस मामले में निर्णय लेंगे। वहीं, यूनियन अध्यक्ष ने दोनो गुटों को ताकीद की है कि भविष्य में यूनियन नेताओं के खिलाफ किसी भी पक्ष ने बयानबाजी की तो वे उनके खिलाफ अनुशासनात्मक कार्रवाई करेंगे। अध्यक्ष का कहना है कि यूनियन की अपनी गरिमा है, उसका सम्मान करना सभी की जिम्मेदारी है।

बंगाल में दीदी, यूनियन में दादा, खेला होबे

कमेटी मीटिंग के बाद सत्ता पक्ष व विपक्ष के समर्थकों की ओर से जमकर बयानबाजी और नारेबाजी हुई। पूर्व महामंत्री आशीष अधिकारी के समर्थकों का कहना है कि बंगाल में दीदी, यूनियन में दादा, खेला होबे। जबकि सत्ता पक्ष के कमेटी मेंबरों का कहना था कि निर्णय बहुमत के आधार पर होगा। यूनियन में वर्तमान में 26 कमेटी मेंबर है। जिसमें से 15 कमेटी मेंबरों का समर्थन उनके पास है। बहुमत के आधार पर उनकी जीत होगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

गोविंदपुर में आज से जलापूर्ति योजना ठप्प

Wed Nov 24 , 2021
गोविंदपुर-परसुडीह जलापूर्ति आज से रहेगी ठप्पलुवाबासा में रॉ वाटर के मेन पाईप हो रहे दुरुस्तजमशेदपुर : गोविंदपुर- परसुडीह जलापूर्ति योजना के तहत पांच जोन में कल बुधवार से जलापूर्ति ठप्प रहेगी. पांच जोन गोविंदपुर, गदड़ा, सरजामदा, हलुदबनी व परसुडीह के हजारों घरों में होने वाला जलापूर्ति बंद रहने से पानी […]